बाजार का संबंध अर्थव्यवस्था से जुड़ा है बाजार का एक बड़ा भाग मानव जाति की आर्थिक स्थिति को सुधारता है।

बाजार हमें कहां मिलेगा ?

बाजार से आशय है कि वह स्थान विशेष से लिया जाता है जो क्रेता विक्रेता एकत्रित होकर क्रय-विक्रय करते हैं उसे बाजार कहते हैं।

बाजार कितने प्रकार के हैं?

बाजार मुख्यता तीन है

  • प्रतियोगिता के आधार पर
  • समय के आधार पर
  • क्षेत्र के आधार पर

विश्लेषण

  • प्रतियोगिता बाजार

  • पूर्ण बाजार
  • एकाधिकार बाजार
  • अपूर्ण बाजार
  • समय के आधार पर

  • अल्पकालीन बाजार
  • अति अल्पकालीन बाजार
  • दीर्घकालीन बाजार
  • अति दीर्घकालीन बाजार
  • क्षेत्र के आधार पर

  • स्थानीय बाजार
  • प्रदेशिक बाजार
  • राष्ट्र बाजार
  • अंतर्राष्ट्रीय बाजार

Advertisements